Ganesh Ji Bhajan Lyrics | पढ़े भगवान श्री गणेश के यह भजन | DharmDhyan.in

पार्वती माता के बेटे भगवान श्री गणेश को प्रथम पूज्य माना गया है कहा जाता है कि सभी कथा ग्रथों के अनुसार माना गया है|

  भगवान श्री गणेश की विधि विद्यान से पूजा अर्चना करने से सभी इक्छाये शीघ्र पूर्ण होती है। शास्त्रों के कहे अनुसार साबसे पहले भगवान श्री गणेश की पूजा, स्तुति के बिना कोई भी पूजा शुरू नही की जाती है। ( Ganesh Ji Bhajan Lyrics )

  सबसे पहले गणेश जी की पूजा नहीं करने से किसी भी पूजा के फल की प्राप्ति नहीं होती हैऔर पूजा अधूरी मानी जाती है|
   भगवान श्री गणेश की सबसे पहले पूजा अर्चना करने से पढ़ाई,शादी विहा, बच्चों का जन्म मोहसव में आने वाली जितनी भी परेशानिया है, वह शीघ्र ही दूर हो जाती है।

  सभी धार्मिक कार्य की शुरु करने से पहले भगवान श्री गणेश को जरूर याद किया जाता है यदि आप अपने जीवन की सभी मुश्किलो को शीघ्र ही दूर करना चाहते है, तो भगवान श्री गणेश का पूजन के साथ ही भजन जरूर पढ़ेंganpati bhajan lyrics ) |
  
  भजनं पड़ने मात्र से ही आपकी सभी इक्छाये पूरी होंगी,और आपकी सारी परेशानियों का अंत होगा ,यदि आप भगवान श्री गणेश का भजन लिरिक्स पढ़ना चाहते है( ganesh bhajan lyrics ) तो आप यहाँ पर भगवान गणेश जी के भजनं पढ़ सकते है |

Ganesh Ji Bhajan Lyrics
गणेश जी के भजन के लिरिक्स पढ़े 



Bhagwan Shri Ganesh


गणेश भजन :-
Ganesh Bhajan :-


 1. घर में पधारो गजानन जी - ganpati bhajan



घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।

घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।

रिद्धि सिद्धि लेके आओ गणराजा,
मेरे घर में पधारो॥

घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो

राम जी आना, लक्ष्मण जी आना।
संग में लाना सीता मैया॥
मेरे घर में पधारो

घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।

ब्रम्हा जी आना, विष्णु जी आना।
भोले शंकर जी को ले आना॥
मेरे घर में पधारो

मेरे घर में पधारो

घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।

लक्ष्मी जी आना, गौरी जी आना।
सरस्वती मैया को ले आना॥
मेरे घर में पधारो

घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।

विघ्न को हरना, मंगल करना।
कारज शुभ कर जाना॥
मेरे घर में पधारो

घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।
विघ्न को हरना, मंगल करना।
कारज शुभ कर जाना॥
मेरे घर में पधारो
घर में पधारो गजाननजी,
मेरे घर में पधारो।।

Album - Ganpati Vandana

Song - Ghar Me Padharo

Singer -  Manish Tiwary, Akanchha Jachak, Rajesh Dubey, Babu

             Rajoriya

Lyrics -

Music -   Sunil Sharma, Akshay Chiklikar

Video Director -   Vimal Sharma




2. सुख कर्ता दुःख हर्ता लिरिक्स - ganesh ji ka bhajan


सुख करता दुखहर्ता, वार्ता विघ्नाची
नूर्वी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची
सर्वांगी सुन्दर उटी शेंदु राची
कंठी झलके माल मुकताफळांची

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

रत्नखचित फरा तुझ गौरीकुमरा
चंदनाची उटी कुमकुम केशरा
हीरे जडित मुकुट शोभतो बरा
रुन्झुनती नूपुरे चरनी घागरिया

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

लम्बोदर पीताम्बर फनिवर वंदना
सरल सोंड वक्रतुंडा त्रिनयना
दास रामाचा वाट पाहे सदना
संकटी पावावे निर्वाणी रक्षावे सुरवर वंदना

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देवब

शेंदुर लाल चढायो अच्छा गजमुख को
दोन्दिल लाल बिराजे सूत गौरिहर को
हाथ लिए गुड लड्डू साई सुरवर को
महिमा कहे ना जाय लागत हूँ पद को

जय जय जय जय जय
जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

अष्ट सिधि दासी संकट को बैरी
विघन विनाशन मंगल मूरत अधिकारी
कोटि सूरज प्रकाश ऐसे छबी तेरी
गंडस्थल मद्मस्तक झूल शशि बहरी

जय जय जय जय जय
जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

भावभगत से कोई शरणागत आवे
संतति संपत्ति सबही भरपूर पावे
ऐसे तुम महाराज मोको अति भावे
गोसावीनंदन निशिदिन गुण गावे

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

Song Details:

SONG: GANPATI AARTI-SUKHAKARTA DUKHAHARTA

ALBUM: AARTI & BHAJAN

SINGER: ANURADHA PAUDWAL

MUSIC: NANDU HONAP

LYRICS: TRADITIONAL

MUSIC LABEL: T-SERIES



3. गजानन कर दो बेड़ा पार - ganesh ji ke gane


गजानन करदो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं,
तुम्हे मनाते हैं,
गजानन तुम्हे मनाते हैं ॥

सबसे पहले तुम्हें मनावें,
सभा बीच में तुम्हें बुलावें,
सभा बीच में तुम्हें बुलावें है ।
॥ गजानंद कर दो बेड़ा पार…॥

आओ पार्वती के लाला,
मूषक वाहन सूंड सुन्दाला,
मूषक वाहन सूंड सुन्दाला ।
॥ गजानंद कर दो बेड़ा पार…॥

भक्त जनों ने टेर लगाई,
सबने मिलकर महिमा गाई,
सबने मिलकर महिमा गाई ।
॥ गजानंद कर दो बेड़ा पार…॥

उमापति शंकर के प्यारे,
तू भक्तों के काज सवारे,
तू भक्तों के काज सवारे ।
॥ गजानंद कर दो बेड़ा पार…॥

लड्डू पेडा भोग लगावें,
पान सुपारी पुष्प चढावें,
पान सुपारी पुष्प चढावें ।
॥ गजानंद कर दो बेड़ा पार…॥

गजानन कर दो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं,
तुम्हे मनाते हैं,
गजानन तुम्हे मनाते हैं ॥

Song - Gajanan Kar Do Beda Paar

Artist - Pallavi Narang

Singer - Rekha Garg

Lyrics & Composer - Traditional

Music - Rinku Gujral

Editing - KV Sain

Label - Fine Digital Video

Copyright - Fine Digital Media

Special Thanks To All Team



4. गणपती राखो मेरी लाज - ganesh bhagwan ke bhajan


जय गणेश, गणनाथ दयानिधि, सकल विघन,
कर दूर हमारे, मम वंदन स्वीकार करो प्रभु जी,
चरण शरण हम, आये तुम्हारी,
जय गणेश, गणनाथ दयानिधि।
गणपति राखो मेरी लाज,
पूरण कीजो मेरे काज।।

सदा रहे खुशहाल गणपति लाल,
जो प्रथमे तुम्हे धियावे,
रिध्धि सिद्धि के दाता ओ भाग्यविधाता,
वो तुमसे सबकुछ पाये।
विनती सुणलो मेरी आज,
गणपती राखो मेरी लाज,
पूरण कीजो मेरे काज।।

कभी ना टूटे आस मेरा विश्वास,
मैं आया शरण तुम्हारी,
हे शम्भू के लाल प्रभु किरपाल,
हे तेरी महिमा न्यारी,
तेरे दया का मैं मोहताज,
गणपती राखो मेरी लाज,
पूरण कीजो मेरे काज।।

Song : Aaye Tumhare Davar |आये तुम्हरे द्वार

Singer : Shahnaz Akhtar

Music : Azaj Khan - Mo. 09425738885

Recoding : Niraj Verma

Camera man : Mohan Sahu

Editor : Radhe Nirwan - 9329014000

DIrector : Mohan Sundrani

Producer : Lakhi Sundrani



5. देवा हो देवा गणपति देवा - shri ganesh bhajan


देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन,
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन।
और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन,
हमसे बढ़कर कौन।।

अद्भुत रूप ये काया भारी,
महिमा बड़ी है दर्शन की,
प्रभु महिमा बड़ी है दर्शन की।
बिन मांगे पूरी हो जाए,
जो भी इच्छा हो मन की
प्रभु जो भी इच्छा हो मन की।

गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया।
देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन
और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन।।

छोटी सी आशा लाया हूँ,
छोटे से मन में दाता,
इस छोटे से मन में दाता,
माँगने सब आते हैं,
पहले सच्चा भक्त ही है पाता,
सच्चा भक्त ही है पाता।
देवा हो देवा, गणपति देवा।।
गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया।

भक्तों की इस भीड़ में,
ऐसे बगुला भगत भी मिलते हैं,
हाँ बगुला भगत भी मिलते हैं,
भेस बदल कर के भक्तों का,
जो भगवान को छलते हैं,
अरे जो भगवान को छलते हैं,
देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन।।
गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया।

एक डाल के फूलों का भी,
अलग अलग है भाग्य रहा,
प्रभु अलग अलग है भाग्य रहा,
दिल में रखना दर्द उसीका,
मत भूल विधाता जाग रहा,
मत भूल विधाता जाग रहा,
देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन।।
गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया।

SONG  - Deva Ho Deva

ARTIST - Mahendra Kapoor, Ravinder Saathe, Debashish Dasgupta, Shailendra Bharti, Vipin Sachdeva

ALBUM - Shani Upasana


6.  तेरी जय हो गणेश लिरिक्स - ganesh ji ke song


तेरी जय हो गणेश,
तेरी जय हो गणेश ।
तेरी जय हो गणेश,
तेरी जय हो गणेश ।।

प्रथमे गौरा जी को वंदना,
द्वितीये आदि गणेश ।
त्रितिये सुमिरु शारदा,
मेरे कारज करो हमेश ।।

तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश ।
तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश ।।

किस जननी ने तुझे जनम दियो है,
किस जननी ने तुझे जनम दियो है ।
किसने दियो उपदेश,
तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश ।।

माता गौरा ने तेनु जनम दियो है,
माता गौरा ने तेनु जनम दियो है ।
शिव ने दियो उपदेश,
तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश ।।

कारज पूरण कदहि होवे,
कारज पूरण कदहि होवे ।
गणपति पूजो जी हमेश ।।

तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश,
तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश ।
तेरी जय हो गणेश तेरी जय हो गणेश ।।

Ganesh Bhajan: Teri Jai Ho Ganesh

Singer: SALEEM

Music Director: SALEEM-PARVEZ

Lyricists: RAJU HARIPURIYA,PURAN SHAHKOTI

Artist: SALEEM

Album: MELA MAIYA DA

Music Label: T-Series



FAQ :-


1. भगवान श्री गणेश को विघ्नहर्ता क्यों कहा जाता है?
Bhagwan Ganesh ko Vighanharta Kyu Kaha Jaata Hei?

भगवान गणेश जी को विघ्नहर्ता इसलिए कहा जाता है क्योंकि भगवान शिव ने उन्हें आशीर्वाद दिया था कि किसी भी शुभ मांगलिक कार्य की शुरुआत भगवान गणेश की पूजा से होगी तो वो सफल होगा |

और उनके सभी कार्य सफल होंगे,उन्होंने गणेश जी को अपने समस्त गणों का अध्यक्ष घोषित करते हुए यह आशीर्वाद दिया कि विघ्न नाश करने में गणेश जी का नाम सबसे ऊपर होगा इसीलिए भगवान गणेश को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है


2. गणेश जी की पीठ के पीछे क्या है?
Ganesh Ji Ki Peeth ke Piche Kya Hei?

कहा जाता है गणेश जी के पीछे दरिद्रता का निवास होता है इस विषय में लोगों को हिदायत दी जाती है घर में रखी किसी भी तरह की गणेश जी की प्रतिमा की पीठ घर के बाहर की तरफ होनी चाहिए उनकी पीठ के पीछे कोई भी कमरा या स्थान नहीं होना चाहिये जो आपके घर से जुडा हो। 

हालांकि उत्तर भारत में एक मान्यता है इसी कारण घर के मुख्य द्वार पर शुभ और लाभ लिखा जाता है। उनका पवित्र चिन्ह स्वास्तिक और शुभ लाभ घर के द्वार पर होने से घर में अच्छाईयों का प्रवेश होता है और बुराईयों आपके घर के अंदर प्रवेश नहीं करती हैं।


3. गणेश जी का पहला नाम किया था?
Ganesh Ji Ka Pehla Naam Kya Hei?  

कहा जाता हैं कि भगवान गणेश जी का सिर या मस्तक कटने से पहले उनका नाम विनायक था परंतु जब उनका मस्तक काटा गया ,और फिर उनके सिर पर हाथी का मस्तक लगाया गया तो तभी से उन्हें गजानन कहा जाने लगा, फिर जब उन्हें सभी गणों का मुखिया बनाया गया तो उन्हें गणपति और गणेश जी के नाम से जाना जाने लगा।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ